इस वजह से म्यांमार में फंसे बिहार के 4 युवक

बिहार के चार युवक म्यामांर गये युवक फंस गये हैं। सभी युवक मैरवा प्रखंड के  निवासी हैं। ये युवक आईटी सेक्टर में काम के लिए थाईलैंड के रास्ते म्यांमार गए थे। काम की तलाश में वहां जाकर ये लोग फंस गये हैं। थाईलैंड में काम के नाम पर बुलाने के बाद कंपनी ने अवैध तरीके से म्यांमार में भेज दिया है। युवकों और परिजनों ने  दूतावास से उनकी सुरक्षित वापसी के लिए गुहार लगाई है। चारों युवक क्रिप्टो करेंसी का काम करने वाली कंपनी के बुलावे पर गए थे।

4 लाख की हो रही है मांग

युवकों को वापस भेजने के नाम पर प्रति व्यक्ति चार लाख रुपये की मांग की जा रही है। युवक म्यांमार में दहशत में हैं। परिजन को फोन करके वापस घर बुलाने की मांग कर रहे है। परिजनों ने सांसद कविता सिंह के माध्यम से विदेश मंत्रालय में गुहार लगायी है। एक माह से चारों युवक फंसे हुए हैं।

अगस्त माह में एक स्थानीय एजेंट ने आईटी सेक्टर के क्रिप्टो करेंसी का काम करने वाली कंपनी में नौकरी दिलाने के थाईलैंड का वीजा दिलाने का इंटरव्यू रखा था। जिसमें प्रतिमाह लगभग 1 लाख 30 हजार सैलरी दिलाने का वादा किया गया। थाईलैंड में आईटी सेक्टर का काम जानकर युवकों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से इंटरव्यू दिया। 

नौकरी दिलाने के नाम पर डेढ़ लाख लिया था

इंटरव्यू के बाद मझौली रोड के तीन युवक और कोल्हुआ दरगाह के एक युवक को कंपनी ने कर्मचारी ने एप्वाइंटमेंट लेटर भेज दिया। इसके लिए एजेंट ने लगभग डेढ़ लाख रुपये लिए। जिसके बाद चारों यूपी और जम्मू के एक युवक के साथ 28 अगस्त थाईलैंड चले गये। वहां थाईलैंड के पश्चमी शहर मीशाट सिटी में काम करना था।

Related Articles

Back to top button